Important Species For UPSC Exam

IUCN Status –
अफ्रीकन चीता – Vulnerable
एशियाई चीता – Critically Endangered

Cities Status
अफ्रीकन चीता – Appendix – 1
एशियाई चीता – Appendix – 1

उपस्तिथि –
अफ्रीकन – उत्तर पश्चिम अफ्रीका, पूर्वी अफ्रीका, दक्षिण अफ्रीका
एशियाई चीता – ईरान मे कुछ बचे हैं

विशेषताएँ:
अफ्रीकन चीते, एशियाई चीतो की तुलना में आकर में बड़े होते हैं।
दुनिया का सबसे तेज़ ज़मीनी स्तनपायी, 80 से 128 किमी/घंटा की रफ़्तार से दौड़ने में सक्षम।
चीता दिन के दौरान शिकार करते हैं।
अन्य बड़ी बिल्लियों (शेर, बाघ, आदि) के विपरीत, दहाड़ते नहीं हैं। चीता की गर्भावस्था अवधि-93 दिन।

चीता तीन मुख्य सामाजिक समूहों में रहते हैं:
1. मादाएं और उनके शावक
2. पुरुष गठबंधन
3. अकेले पुरुष।
मादाएं बड़े घरेलू क्षेत्रों में शिकार की तलाश में खानाबदोश जीवन व्यतीत करती हैं, नर अधिक गतिशील नहीं होते हैं और मादा बहुत छोटे क्षेत्र मे रहते हैं।
औसत महिला गृह क्षेत्र लगभग 750 वर्ग किमी होने का अनुमान लगाया गया है
बड़े मांसाहारियों में, चितों के साथ मानवीय हितों का टकराव सबसे कम है, क्योंकि वे मनुष्यों के लिए खतरा नहीं हैं और आमतौर पर बड़े पशुधन पर हमला नहीं करते हैं।

प्रोजेक्ट चीता-
विश्व की पहली अंतरमहाद्वीपीय बड़ी जंगली मांसाहारी स्थानांतरण परियोजना।
केंद्र प्रायोजित योजना- भारत की ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ का हिस्सा।
फंडिंग: प्रोजेक्ट टाइगर और प्रतिपूरक वनरोपण निधि प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण (सीएएमपीए – CAMPA ) से फंड लगाया जाएगा।

नोडल एजेंसी:

राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) फंडिंग के लिए अधिकृत है।
भारतीय वन्यजीव संस्थान (WII), तकनीकी और ज्ञान सहायता के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मांसाहारी/चीता विशेषज्ञ/एजेंसियाँ।

चीता पुनर्वास का महत्व:
चीते भारत में खुले जंगल और घास के मैदान के पारिस्थितिकी तंत्र को बहाल करने में मदद कर सकते हैं
संसाधन जुटाना, वैश्विक संरक्षण प्रयासों में योगदान देना
स्थानीय सामुदायिक आजीविका को बढ़ाना जलवायु परिवर्तन शमन लक्ष्यों आदि में योगदान देता है।

कूनो राष्ट्रीय उद्यान को क्यों चुना गया ?

कोई मानव बस्तियां नहीं: वर्षों पहले पार्क के अंदर से लगभग 24 गांवों और उनके पालतू पशुओं का पूरी तरह से स्थानांतरण हो चुका है।
सवाना निवास स्थान गाँव के स्थलों और कृषि क्षेत्रों पर अब घास ने कब्जा कर लिया है।
• रेंज: यह क्षेत्र चीता की ऐतिहासिक रेंज, छत्तीसगढ़ के साल वनों के बहुत करीब है।
• सह-अस्तित्व की गुंजाइश: कुनो भारत में सभी चार बड़ी बिल्लियों – टाइगर, शेर, लिपैर्ड, और चीता – के आवास की संभावना प्रदान करता है।
• कुनो को मूल रूप से शेरों के लिए दूसरा घर उपलब्ध कराने का प्रस्ताव दिया गया था।
सभी चीतों का टीकाकरण किया जाएगा और सैटेलाइट रेडियो कॉलर लगाए जाएंगे।
आईयूसीएन दिशानिर्देशों के आधार पर चीता के लिए कार्य योजना तैयार की गई।

Important Species For UPSC

Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species Important Species

Read Also – 

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण | National Disaster Management Authority | NDMA UPSC Notes In Hindi  

UPSC IAS (Mains) 2016 History Optional (Paper -2 ) Exam Question Paper in Hindi |  यूपीएससी आईएएस 2016 (मुख्य परीक्षा) इतिहास वैकल्पिक पेपर -2   | History Optional Previous Year Question Paper-2  2016

FOLLOW US :

HKT BHARAT YOUTUBE CHANNEL

FACEBOOK

KOO APP

INSTAGRAM

TWITTER